Thursday, August 15, 2013

वन्दे मातरम् ...

वन्दे मातरम् ..................

एहसास थोडा तो जगाये अपने दिलो में हम,

क्या नाम है अपना जहाँ में, खड़े है कहाँ पे हम,
है हमें जाना कहाँ और चले है कहाँ पे हम,
हमसे पूछे है ये मात्रे वतन .......

जाना है तारों से आगे,अब न रुकेंगे हम,

एक नयी सुबह जगाये सारे जहाँ में हम,
हिम्मत करे आगें बढ़ें अब नए रास्तों पे हम,
सारी दुनिया अपनी मात्रे वतन....

माँ तुझे सलाम ...


एहसास थोडा तो जगाये .. वन्दे मातरम् ...

क्या नाम है अपना जहाँ में .. वन्दे मातरम् ...
एक नयी सुबह जगाये ..  वन्दे मातरम् ...
अरे इंतज़ार है जहाँ को .. वन्दे मातरम् ...

.........................................................


लता जी का गया हुआ ये गाना, लगभग 18 सालो से मेरे अंतर्मन में गूँजता रहता है !!

http://www.youtube.com/watch?v=fOYNC4eUBKE

जय हिन्द !!